बैंक पीओ क्या है और बैंक में PO कैसे बने – Bank PO Kaise Bane

नमस्कार दोस्तो कैसे हो आप सभी आशा करता हूं आप सभी अच्छा होंगे आज की यह पोस्ट उन सभी के लिए लाभदायक होगी जिसका सपना बैंक में नौकरी करने का है। 

इस पोस्ट में हम आपके साथ कुछ जानकारी जैसे बैंक पीओ कैसे बने? Bank PO Syllabus क्या होता है? Bank PO Qualification? बैंक की तैयारी के लिए बुक, बैंक पीओ की तैयारी कैसे करें, Selection Process, और बैंक पीओ बनने में कितने साल लगते हैं के बारे में विस्तार से आपको जानकारी देंगे इन सभी के बारे में जानने के लिए हमारी इस पोस्ट को अंत तक पढ़े।

दोस्तों वर्तमान समय में हर कोई अच्छी नौकरी पाना चाहता है जैसे कोई इंजीनियर, कोई पुलिस, कोई डॉक्टर बनना चाहता है तो कई बैंकिंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहता है। बैंकिंग के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए कठिन परिश्रम करना होता है।

अधिकतर युवाओं का सपना बैंकिंग के क्षेत्र में Bank PO बनना होता है बैंक पीओ में अपना करियर बनाने के लिए छात्र इसके लिए तैयारी भी करते हैं। 

लेकिन उन्हें मालूम नहीं होता है की बैंक पीओ के लिए क्वालिफिकेशन क्या है और इसकी तैयारी कैसे करें जिसके कारण उनका बैंक पीओ बनने का सपना अधूरा रह जाता है। 

इसलिए आज हम आपको बैंक पीओ कैसे बने(Bank PO Kaise Bane) के बारे में विस्तार से समझाएंगे।

Bank PO क्या होता है? – Bank PO Kya Hota Hai 

दोस्तों ज्यादातर लोगों को पता नहीं आपके बैंक पीओ किसे कहते हैं? बैंक पीओ वह है जो बैंक में नकद लेनदेन, चेक बुक, पासबुक, एटीएम कार्ड, क्रेडिट कार्ड तथा ग्राहकों के खाते की जानकारी रखता है।

अगर सरल भाषा में कहा जाए तो बैंक पीओ ग्राहकों को सेवा उपलब्ध कराता है।

Bank PO का पूरा नाम Bank Probationary Officer है इसका हिंदी में अर्थ परिविक्षाधीन अधिकारी होता है यह पद Assistant Manager या Junior Manager की तरह होता है।

Bank PO बनने के लिए Qualification क्या है?

दोस्तों अगर आप बैंक पीओ बनना चाहते हैं तो आपके पास नीचे दी गई कुछ शैक्षणिक योग्यता होनी चाहिए जो निम्न है–

  • किसी भी विधि द्वारा स्थापित और मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या किसी संस्थान से आपने स्नातक की परीक्षा में 50%अंक प्राप्त किए हो।
  • बैंक पीओ बनने के लिए स्नातक में बीए, बीकॉम, बीएससी तथा इंजीनियर ग्रेजुएट यह परीक्षा दे सकते हैं।

Bank PO बनने के लिए आयु सीमा

बैंक पीओ बनने के लिए आयु निम्न प्रकार होनी चाहिए-

  • अनारक्षित(UR) में आवेदक की न्यूनतम आयु 21 वर्ष तथा अधिकतम आयु 30 वर्ष होनी चाहिए।
  • इसमें आरक्षण के आधार पर आयु में छूट दी जाती है जैसे 
  • ओबीसी कैटेगरी के लिए 3 वर्ष की छूट होती है 
  • एससी और एसटी को 5 वर्ष की छूट दी जाती है।

इसमें आयु की गणना संबंधित विभाग के द्वारा जारी किए गए नोटिफिकेशन के द्वारा निर्धारित की जाती है।

Bank PO कैसे बने? – Bank Me PO Kaise Bane 

बैंकों में पीओके पद पर नौकरी पाना बहुत आसान है इसके लिए आपको कठिन मेहनत की जरूरत करनी पड़ती है।

साथ ही बैंक पीओ बनने के लिए आपको प्रतियोगी परीक्षा पास करना पड़ता है तो आपको खुद से या फिर कोचिंग की मदद से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करनी पड़ती है।

दोस्तों अगर आप बैंक पीओ बनना चाहते हैं तो हमारे द्वारा दी गई जानकारी को अच्छे से पढ़ें-

  • बैंक पीओ बनने के लिए सबसे पहले आपने ग्रेजुएशन में 50% अंक प्राप्त किए हो।
  • आवेदक की न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम 30 वर्ष होनी चाहिए।
  • बैंक पीओ बनने के लिए IBPS Exam/SBI Exam को पास करना अनिवार्य होता है।
  • बैंक पीओ बनने के लिए इस भर्ती में तीन चरण में परीक्षा प्रस्तावित की जाती है।
  • इन तीनों चरणों की परीक्षाओं को पास करने के बाद आप बैंक में Probationary Officer बन जाते हैं।

दोस्तों अगर आप ऊपर दी गई योग्यता रखते हैं तो आप बैंक पीओ बन सकते हैं।

Bank PO के कार्य

दोस्तों अगर आप बैंकिंग के क्षेत्र में Bank PO बनना चाहते हैं तो आपको इसके कार्यों के बारे में जानकारी होनी चाहिए आज हम आपको इसके कार्य के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे।

बैंक में Probationary Officer बैंक में सर्वश्रेष्ठ भूमिका निभाता है इसका कार्य है विशेषकर ग्राहकों की सेवाओं के लिए होता है इन सेवाओं के बारे में नीचे बताया गया है-

  • Probationary Officer का काम अपने ग्राहकों को ऋण प्रदान करना होता है और ऋण देते समय ग्राहकों से कुछ जरूरी दस्तावेजों को सत्यापित करवाना होता है।
  • सभी प्रकार के दस्तावेजों की अच्छी तरीके से जांच करके ऋण दिया जाता है।
  • Probationary Officer मार्केटिंग फाइनेंस से संबंधित अन्य जानकारी रखता है।
  • Probationary Officer ग्राहकों को बैंकिंग से संबंधित सुविधाएं प्रदान करता है जैसे चेक बुक, एटीएम, पासबुक और इन से संबंधित ग्राहकों की सभी समस्याओं का समाधान करता है।
  • इसका एक कार्य नगद लेनदेन और खाते से संबंधित ग्राहकों को जानकारी प्रदान करना होता है।

दोस्तों अगर आप ऊपर दिए गए सभी कार्यों को कर सकते हैं और बैंक का एग्जाम पास कर सकते हैं तो यह नौकरी आपके लिए बहुत ही लाभदायक होगी।

Bank PO को कितनी सैलरी मिलती है?

दोस्तों यदि आप बैंक में पीओ की नौकरी करने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको इसके वेतन और भत्ते के बारे में जानना बहुत जरूरी है।

अगर इसमें प्रति माह के वेतन की बात करें तो इसका वेतन ₹23700 से ₹42020 तक होता है परंतु SBI PO में अन्य बैंकों की अपेक्षा अधिक वेतन मिलता है।

दोस्तों अगर हम इस नौकरी में मिलने वाले सभी भत्तों को जोड़ते हैं तो एक New Selected प्रोबेशनरी ऑफिसर को तकरीबन ₹55000 प्रति महीना से लेकर ₹60000 प्रति महीना तक सैलरी मिलती है।

Bank PO Exam Pattern In Hindi

दोस्तों अब बारी आती है बैंक पीओ एग्जाम के पैटर्न के बारे में जानने की। Bank PO कि इस परीक्षा को IBPS आयोजित कराती है। 

इस परीक्षा में मुख्य रूप से तीन चरण होते हैं इन तीनों चरणों की परीक्षाओं को पास करने के बाद आपको बैंक पीओ की जॉब मिल जाती है। इसकी पूरी प्रक्रिया का वर्णन नीचे विस्तार में किया गया है

1. प्रारंभिक परीक्षा

इस प्रारंभिक परीक्षा में 3 पेपर की परीक्षा होती है जो कि निम्न है-

  • संख्यात्मक क्षमता(Numerical Ability)
  • अंग्रेजी भाषा (English Language)
  • तर्क क्षमता(Reasoning Ability)

प्रारंभिक परीक्षा में कुल 100 अंकों के प्रश्न पूछे जाते हैं इन प्रश्नों को हल करने के लिए मात्र 1 घंटे का समय दिया जाता है।

बैंक की इस प्रारंभिक परीक्षा में Negative Marking का भी प्रावधान है। जब अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा को पास कर लेते हैं तब उन्हें मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है।

2. मुख्य परीक्षा

दोस्तों अगर मुख्य परीक्षा की बात करें तो इसमें मुख्य रूप से 5 विषयों से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

IBPS PO की मुख्य परीक्षा जाने वाली पांच विषय  नीचे दिए गए हैं-

  • सामान्य ज्ञान और बैंकिंग से संबंधित ज्ञान
  • तर्क और कंप्यूटर योग्यता
  • अंग्रेजी भाषा
  • डेटा विश्लेषण और उसकी व्याख्या
  • अंग्रेजी भाषा में पत्र लेखन और निबंध

ऊपर दिए गए पांच पेपरों की परीक्षाओं के लिए मात्र 3 घंटे का समय दिया जाता है इन 3 घंटों में सभी प्रकार के प्रश्नों को हल करना होता है। 

पेपरों के लिए अधिकतम कुल 200 अंक निर्धारित किए गए हैं इसमें भी आपको नेगेटिव मार्किंग देखने को मिलती है। 

इसलिए सभी प्रश्नों का जवाब अच्छे से सोच समझ कर दे और अच्छे अंक प्राप्त करके परीक्षा में सफल होकर बैंक में पीओ बन जाए।

3. साक्षात्कार

दोस्तों जो उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा, और मुख्य परीक्षा को पास करते है उन्हें इसमें आगे इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

इंटरव्यू में अधिकारियों की बेंच बैठी होती है वह बेंच उम्मीदवार से कुछ सवाल पूछती है उन प्रश्नों का उत्तर अच्छे से देना होता है।

इस इंटरव्यू के द्वारा उम्मीदवार की योग्यता का आकलन किया जाता है जो भी उम्मीदवार अच्छे से सभी प्रश्नों के उत्तर अच्छे से देता है उसे अच्छे मार्क्स दिए जाते हैं और वह इस साक्षात्कार को पास कर जाता है और बैंक पीओ में नौकरी पा जाता है।

Bank PO की तैयारी कैसे करें?

दोस्तों अब तक आपने बैंक पीओ क्या है? कैसे बनते हैं? इसकी क्वालिफिकेशन के बारे में जान लिया है अब आप सोच रहे होंगे कि इसकी तैयारी कैसे की जाती हैं?

दोस्तों यदि आप बैंक में पीओ की नौकरी करना चाहते हैं तो इस नौकरी को पाने के लिए आपको पहले से ही तैयारी करनी होती है जिससे आप इसे बहुत ही आसानी से पास कर सकते हैं।

बैंक पीओ की तैयारी कैसे करें इसके बारे में नीचे स्टेप बाय स्टेप में आपको विस्तार से बताऊंगा–

  • दोस्तो आप जिस बैंक में बैंक पीओ बनना चाहते हैं उस बैंक में परीक्षा से संबंधित आवश्यक जानकारी प्राप्त करें जैसे सिलेबस, पाठ्यक्रम तथा परीक्षा में प्रश्न की संख्या तथा परीक्षा समय के बारे में जानकारी प्राप्त करें।
  • बैंकिंग क्षेत्र की तैयारी के लिए आईबीपीएस एग्जाम की अच्छे लेखक की किताबें खरीदते हैं और उन्हें अच्छे से पढ़े।
  • बैंक पीओ में जल्दी सफलता पाने के लिए आप इसके लिए कोचिंग का सहारा भी ले सकते हैं।
  • कोचिंग आप ऑफलाइन या ऑनलाइन किसी भी तरीके से कर सकते हैं। आप अगर कोचिंग नहीं करना चाहते तो Self Study भी कर सकते हैं।
  • इस Exam को पास करने के लिए आपको कंप्यूटर के ज्ञान के साथ-साथ करंट अफेयर्स, सामान्य ज्ञान पर भी ध्यान देना होगा।
  • करंट अफेयर की जानकारी के लिए प्रतिदिन अखबार पढ़े।
  • IBPS ने पिछले वर्षों में जो भी प्रश्नपत्र कराए हैं उन्हें सॉल्व करें और बार-बार प्रैक्टिस करें।
  • बैंक पीओ में सफलता पाने के लिए बार-बार प्रैक्टिस करें क्योंकि इसमें समय का बहुत अभाव रहता है।
  • प्रत्येक सप्ताह कम से कम एक मॉक टेस्ट या प्रैक्टिस सेट जो आपके एग्जाम पर आधारित हो जरूर लगाएं और देखें कि कहां कमी रह रही है और फिर उस कमी को दूर करें यदि आप ऐसा करते हैं तो आप बैंक पीओ में बहुत जल्दी सफल हो जाएंगे।
  • बैंक पीओ बनने के लिए ज्यादा पढ़ने की आवश्यकता नहीं होती है बल्कि अच्छे से पढ़ने की आवश्यकता होती है।
  • इसकी पढ़ाई करने के लिए आपको एक ही नियमित टाइम टेबल बनाने की आवश्यकता होगी।
  • अगर वर्तमान समय की बात करें तो पढ़ाई के लिए YouTube, Google के माध्यम से भी आप अपनी पढ़ाई कर सकते हैं जो चीजें आपको समझ नहीं आ रही हों आप इनसे सर्च कर सकते हैं और अच्छे से समझ कर अपनी पढ़ाई को मजबूत बना सकते हैं।
  • इस एग्जाम को पास करने के लिए अधिक से अधिक समय सेल्फ स्टडी में लगाएं।
  • गणित और अंग्रेजी विषय पर अधिक ध्यान दें क्योंकि ज्यादातर अभ्यर्थी गणित और अंग्रेजी में ही विफल होते हैं और इनकी अच्छे से Practise करें।

बैंक मैनेजर कैसे बने – Bank Manager Kaise Bane

हर साल IBPS और अलग-अलग विभागों के द्वारा बैंक मैनेजर पद की भर्ती के लिए Recruitment जारी किया जाता है।

अगर आप बैंक मैनेजर बनना चाहते हैं तो आपने कम से कम 60% अंकों के साथ स्नातक की डिग्री प्राप्त की उसके बाद आप IBPS और अन्य विभागों के द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं।

फिर आप उस परीक्षा को पास करके बैंक मैनेजर का पद प्राप्त कर सकता है इस पद के लिए आयु सीमा 18 से 30 वर्ष होती है साथ ही उम्मीदवार के पास कंप्यूटर की डिग्री होनी चाहिए।

अगर आप किसी सरकारी बैंक में मैनेजर बन जाते हैं तब आपको महीने में ₹60000 से लेकर ₹70000 तक की सैलरी मिलती है।

इसे भी पढ़े :

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हमने आपको बैंक पीओ कैसे बने(Bank PO Kaise Bane), सिलेबस क्या होता है, इसकी योग्यता, सिलेक्शन प्रोसेस, क्वालिफिकेशन आदि के बारे में विस्तार से आपको जानकारी दी है।

मैं आशा करता हूं मेरे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे मेरी इस पोस्ट को उन सभी दोस्तों के पास शेयर करें जो बैंक पीओ बनना चाहते हैं। 

यदि आप इस पोस्ट से संबंधित कोई सुझाव देना चाहते हैं तो आप अपना सुझाव कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं धन्यवाद।

FAQ : Bank PO Kaise Bane 

Q1. Bank PO की Full Form क्या है?

Ans : Bank PO की Full Form Bank Probationary Officer है इसका हिंदी में अर्थ परिविक्षाधीन अधिकारी होता है।

Q2. Bank PO बनने के लिए न्यूनतम आयु कितनी होती है?

Ans : बैंक पीओ बनने के लिए न्यूनतम आयु 21 वर्ष तथा अधिकतम आयु 30 वर्ष होती है इसमें OBC, SC, ST को नियमानुसार छूट दी जाती है

Q3. Bank PO बनने के लिए क्या क्वालिफिकेशन होती है?

Ans : बैंक पीओ बनने के लिए कम से कम स्नातक में 50% अंक होने चाहिए तभी आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

Q4. Bank PO के क्या कार्य होते हैं?

Ans : Probationary Officer ग्राहकों को बैंकिंग से संबंधित सुविधाएं प्रदान करता है जैसे चेक बुक, एटीएम, पासबुक और इन से संबंधित ग्राहकों की सभी समस्याओं का समाधान करता है।

Q5. बैंक पीओ कितनी सैलरी मिलती है?

Ans : बैंक पीओ को मिलने वाले सभी भत्तों को जोड़ने के पश्चात बैंक पीओ का वेतनमान महीने में ₹55000 से- ₹60000 के बीच होता है।

Leave a Comment