शेयर मार्केट क्या है और कैसे सीखे? ( पूरी जानकारी ) – Share Market Kya Hai In Hindi

जब कभी कोई भी नया इंसान शेयर बाजार में कदम रखता है तो है सबसे पहले शेयर मार्केट क्या है(Share Market Kya Hai) के बारे में जानना चाहता है।

शेयर बाजार के संबंध में अक्सर लोगों की मन में यह दुविधा रहती है कि शेयर बाजार बरमुंडा ट्राएंगल की तरह है जिसमें अगर कोई निवेश करता है तो वह अटक जाता है।

लेकिन दोस्तों ऐसा बिल्कुल भी नहीं है अगर आप शेयर मार्केट के संबंध में अच्छी Knowledge रखते हैं तो आप शेयर बाजार के बादशाह बन सकते हैं।

आज इस ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से हम आपको शेयर बाजार क्या है के साथ-साथ इसके संबंध में अन्य जानकारी जैसे शेयर कैसे खरीदते हैं, शेयर क्या है, शेयर बाजार के नियम, शेयर मार्केट का गणित और शेयर मार्केट कैसे सीखे के बारे में जानकारी देंगे।

शेयर मार्किट क्या है? – What is Share Market in Hindi

बाजार को एक ऐसे स्थान के संदर्भ में समझा जाता है जहां पर वस्तुओं की खरीद और बिक्री होती है दोस्तों शेयर बाजार एक तरीके से बाजार ही होता है जहां पर बहुत सारी कंपनियां सूचीबद्ध होती हैं और हर एक कंपनी के द्वारा अपने कुछ शेयर जारी किए जाते हैं बेचने के लिए जिनकी कीमत अलग-अलग हो सकती है।

साधारण शब्दों में शेयर बाजार को आप एक ऐसे स्थान के रूप में परिभाषित कर सकते हैं जहां पर शेयरों की खरीद और बिक्री की जाती है भारतीय शेयर बाजार की स्थापना साल 1875 में की गई थी शेयर बाजार में कई चीजों के उतार-चढ़ाव के चलते शेयर की कीमतों में उतार चढ़ाव होता रहता है।

इस वजह से बहुत सारे लोग या तो बहुत ज्यादा अमीर हो जाते हैं या फिर बहुत ज्यादा गरीब हो जाते हैं अगर आप किसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं तो इसका मतलब होता है कि कंपनी में साझेदार बनना।

शेयर बाजार एक ऐसा बाजार होता है जहां पर कोई भी आम नागरिक Listed कंपनी के शेयर को खरीद बेच सकता है।

जो भी व्यक्ति किसी कंपनी के शेयर खरीदता या बेचता है उसे निवेशक कहते हैं शेयर बाजार बहुत जोखिम भरा होता है इसलिए अगर आप इसकी तरफ जाना चाहते हैं तो आपको शेयर बाजार के संबंध में पूरी जानकारी होना बहुत जरूरी है।

शेयर बाजार की परिभाषा क्या है

दोस्तों अगर हम शेयर बाजार की परिभाषा के रूप में बात करें तो यह एक ऐसा बाजार होता है जहां पर आम जनता मुनाफा कमाने के लिए अपने पैसों को किसी कंपनी के शेयर खरीदने में निवेश करती है।

कंपनी को शेयर बाजार में List कैसे करते है

अगर आपको ₹2000000 की जरूरत है तो आप अपनी कंपनी को शेयर बाजार पर सूचीबद्ध करके आसानी से ₹20 लाख इकट्ठा कर सकते हैं इसके लिए सबसे पहले आपको अपनी कंपनी को Stock Exchange(BSE या NSE) पर सूचीबद्ध कराना होगा। 

अपनी कंपनी को किसी भी स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट कराने के लिए सबसे पहले आपको भारत के Securities And Exchange Board(SEBI) के पास जाना होग SEBI के पास आपको अपनी कंपनी की सभी Details जमा करनी पड़ती है जब एक बार सेबी के द्वारा आपकी कंपनी को Verify कर दिया जाता है।

और उसे Approval दे दिया जाता है तो आप अपनी कंपनी को Stock Exchange पर सूचीबद्ध कर सकते हैं अब आप पहली बार अपनी कंपनी के शेयर बेचने जा रहे हैं माना आपको ₹20 लाख की जरूरत है तब आप ₹200 के हिसाब से 10,000 शेयर निकालेंगे।

दोस्तों इसी प्रक्रिया को IPO बोला जाता है जिसका पूरा मतलब Initial Public Offering होता है।

इसका मतलब यह होता है कि जब कोई कंपनी पहली बार शेयर बाजार पर सूचीबद्ध होकर अपने शेयर आम जनता के लिए जारी करती है तो उसे IPO कहते हैं फिर लोग आपकी कंपनी के शेयर्स को खरीदेंगे और जब कंपनी के सारे शेयर बिक जाएंगे तो पैसे आपके बैंक खाते में जमा कर दिए जाएंगे।

शेयर क्या होता है – What Is Share In Hindi

हम उम्मीद करते हैं कि आप बहुत अच्छी तरीके से शेयर बाजार क्या होता है ( Share Market Kya Hai ) के बारे में जान गए होंगे अब हम आपको बताते हैं कि शेयर क्या होता है। 

शेयर का मतलब होता है किसी कंपनी में आप की साझेदारी मतलब अगर आप किसी कंपनी का शेयर खरीदते हैं तो इसका यह अर्थ है कि आप उस कंपनी के साझेदार बन गए हैं।

किसी कंपनी के शेयर खरीदने के बाद आप उस कंपनी के कुछ हिस्से के मालिक बन जाते हैं अगर आपका पैसा किसी कंपनी में लगा हुआ है और वह कंपनी मुनाफा कमाती है तो आपको भी मुनाफा मिलता है लेकिन अगर कंपनी घाटे की तरफ जाती है और उसके शेयरों की कीमत कम होती है तो आपको भी नुकसान होता है।

माना किसी कंपनी के पास कुल 100 शेयर हैं और आप ने उस कंपनी के 20 शेयर खरीद लिए हैं अब आप उस कंपनी के 20% Equity के मालिक कहलाएंगे वर्तमान समय में इतनी बढ़िया सहूलियत हो गई है कि आप किसी भी कंपनी के शेयर ब्रोकर की मदद से खरीद भी सकते हैं और बेच भी सकते हैं।

इस समय Brockers, Basically कुछ Apps या Websites होते हैं जो आपको अलग-अलग कंपनियों के शेयरों को खरीदने और बेचने की सुविधा प्रदान करते हैं अगर आप भी किसी कंपनी के शेयर खरीदना चाहते हैं तो Upstox, Angle One, Groww, Zerodha जैसे Apps और Websites की मदद ले सकते हैं।

शेयर की कीमत कैसे कम या ज्यादा होती है

दोस्तों शेयर बाजार में किसी भी शेयर की कीमत Demand और Supply के आधार पर कम या ज्यादा होती है अगर किसी कंपनी के शेयरों की मांग ज्यादा होती है लेकिन उसकी आपूर्ति कम होती है तो उस कंपनी के शेयर की कीमत बढ़ जाती है।

ठीक इसी प्रकार अगर कंपनी के शेयर की आपूर्ति ज्यादा है लेकिन उसकी मांग कम है तो उसके शेयर की कीमत कम हो जाती है इसी प्रकार मांग और पूर्ति के आधार पर शेयरों का मूल्यांकन किया जाता है हर एक कंपनी के शेयर की कीमत अलग-अलग होती है।

हर एक कंपनी रोज कारोबार करती है जिसमें कभी उसे लाभ होता है तो कभी नुकसान उठाना पड़ता है इसी वजह से समय के साथ कंपनियों के शेयरों की कीमतों में उतार-चढ़ाव होता रहता है

जब किसी कंपनी का कारोबार बढ़ता है तो उसे मुनाफा होता है इस वजह से निवेशक उस कंपनी के शेयर को खरीदने लगते हैं जिससे उस कंपनी के शेयर की कीमत बढ़ जाती है

इसी प्रकार जब कंपनी को नुकसान होता है तो निवेशक जल्दी-जल्दी अपने शेयर बेचने लगते हैं जिससे कंपनी के शेयर की कीमत कम हो जाती है।

शेयर कैसे खरीदे बेचे जाते हैं

Share Market में किसी भी कंपनी के शेयर खरीदने और बेचने के लिए बोली लगाई जाती है मतलब शेयरों को नीलाम किया जाता है इस प्रक्रिया में जो विक्रेता सबसे कम कीमत पर शेयर बेचने के लिए और जो क्रेता सबसे अधिक कीमत पर शेयर खरीदने के लिए तैयार होता है उन दोनों के बीच शेयरों का आदान-प्रदान हो जाता है।

इस प्रक्रिया में जो सबसे ऊंची बोली लगाता है वह शेयर खरीद लेता है इसे ही Bid Price या Ask Price कहा जाता है विक्रेता जिस कीमत पर शेयर बेचने के लिए तैयार होता है उसे Bid Price और क्रेता जिस कीमत पर शेयर खरीदने के लिए तैयार होता है उसे Ask Price कहते हैं।

किसी कंपनी के शेयर कैसे खरीदें

किसी भी कंपनी के शेयर खरीदने के लिए बेसिकली आपको तीन चीजों की जरूरत पड़ती है।

Bank Account

किसी भी कंपनी के शेयर खरीदने के लिए आपको भुगतान करना पड़ता है जिसके लिए चालू बैंक खाता होना अनिवार्य है।

Demat Account

जब आप किसी कंपनी का शेयर खरीदते हैं तो आपको उस कंपनी में हिस्सेदारी मिलती है लेकिन आपके पास कोई Proof होना चाहिए।

जिससे आप भविष्य में गड़बड़ होने पर दर्शा सकें कि आपका पैसा इस कंपनी में लगा हुआ है इसीलिए आप जो भी शेयर खरीदते हैं वह Digital Form में Proof के तौर पर आपके Demat Account में जमा हो जाता है।

और जब आप उस शेयर को बेचते हैं तो वह वहां से उठकर कंपनी के पास चला जाता है आप लगभग सभी Trading Apps पर बिल्कुल फ्री में Demat Account खोल सकते हैं।

Trading Account

भारत में विशेष रूप से दो Stock Exchange है BSE और NSE आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह सीधे तौर पर किसी भी कंपनी के शेयर की खरीद बिक्री नहीं करते हैं।

इसके लिए कुछ Discount Broker Companies है जैसे Zerodha, Groww, Upstox आदि जिन पर जाकर आप किसी भी कंपनी के शेयर को Trade कर सकते हैं शेयर खरीदने और बेचने के लिए आपको इसी तरह के Trading Platforms पर खाता खोलना पड़ता है जिसे Trading Account या Broker Account कहते हैं।

शेयर खरीदने की प्रक्रिया

सबसे पहले आप किसी भी Brocker Platform की मदद से अपना Demat Account Open करेंगे फिर अपने बैंक खाते को Demat Account से लिंक करेंगे।

ध्यान रखने योग्य बात है कि आपका बैंक खाता चालू होना चाहिए और उसमें कुछ धनराशि जरूर होनी चाहिए।

फिर आप जब किसी कंपनी का शेयर खरीदते हैं तो शेयर की कीमत के बराबर पैसा आपके बैंक खाते से निकलकर Trading Account के माध्यम से कंपनी के पास चला जाता है।

इस तरह आपके द्वारा खरीदा हुआ शेयर आपके Demat Account में Digital Proof के रूप में Save हो जाता हैदोस्तों अगर आप भविष्य में उस शेयर को बेचते हैं तो वह आपके Demat Account से निकलकर वापस कंपनी के पास चला जाता है और पैसा आपके बैंक खाते में आ जाता है।

शेयर कब खरीदना चाहिए

अगर आप शेयर बाजार की मदद से पैसा कमाना चाहते हैं तो आपके लिए शेयर कब खरीदना चाहिए के बारे में जानना बेहद जरूरी हो जाता है शेयर बाजार में किसी भी शेयर को खरीदने से पहले आपको नीचे दी गई बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • किसी भी कंपनी का शेयर खरीदने से पहले उसके बारे में अच्छी तरह से रिसर्च करें।
  • कंपनी की पिछले कुछ सालों की Performance, Profit, Loss लिस्ट जरूर देखें।
  • Company के Assets और Liabilities को अच्छे से चेक करें।
  • संबंधित कंपनी के Cash Flow Statement के बारे में पता लगाएं।
  • निवेश करने से पहले बैलेंस सीट के बारे में भी अच्छी तरह से जांच पड़ताल करें।

शेयर बाजार का महत्व

शेयर बाजार के महत्व को कुछ बिंदुओं के आधार पर दर्शाया गया है।

उद्देश्य और ऑपरेशन

कंपनियों के पास पैसा जुटाने के लिए शेयर बाजार बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है इसमें कंपनी अपना कुछ हिस्सा IPO के जरिए बेचती हैं।

इससे कंपनी को हिस्सेदारी देने के बदले में पैसा मिलता है और वह पैसा कंपनी को वापस देने की जरूरत नहीं होती उस पैसे से कंपनी अपना कारोबार बढ़ा सकती है।

दाम पर प्रभाव

शेयर बाजार में किसी भी शेयर की कीमत को शुरुआत में कंपनी ही निर्धारित करती है उसके बाद लोगों के द्वारा Trade के माध्यम से इसकी कीमत घटती या बढ़ती है।

क्रैश

जब शेयर मार्केट के भाव में अचानक से गिरावट हो जाती है तो उस स्थिति को क्रैश कहा जाता है इसका मुख्य कारण कंपनी का निराशाजनक प्रदर्शन और भविष्य में नुकसान होने की संभावना होती है।

शेयर बाजार में जोखिम

इसमें कोई शक नहीं है कि शेयर बाजार में बहुत अधिक जोखिम है लेकिन यह केवल उन्हीं लोगों के लिए है जो बिना किसी रिसर्च के घटिया कंपनी में निवेश कर देते हैं।

जल्दी मुनाफा कमाने के चक्कर में लोग सस्ती कंपनियों में निवेश कर देते हैं लेकिन बाद में पता चलता है कि अधिकतर कंपनियां फ्रॉड होती हैं, दिवालिया होती है या उन पर कर्ज बहुत अधिक होता है।

इसी वजह से वह कंपनियां मुनाफा नहीं कमा पाती हैं और उन के शेयर की कीमत ऊपर जाने के बजाय डाउन हो जाती है इसीलिए अगर आप शेयर बाजार में नए है तो आपको हमेशा Large Capitalization और Blue Chip वाली कंपनियों में ही निवेश करना चाहिए ताकि जोखिम को कम किया जा सके।

शेयर मार्केट कैसे सीखे – How To Learn Share Market In Hindi

अगर आप शेयर बाजार में शुरुआती चरण में है और एक सफल निवेशक बनना चाहते हैं साथ ही शेयर बाजार से पैसे कमा कर इसमें अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आपको इसे अच्छे से सीखना पड़ेगा।

शेयर बाजार को सही तरीके से समझने और सीखने के लिए आपको इससे जुड़ी अलग-अलग चीजें सीखनी पड़ती है लेकिन सबसे पहले आपको Basics Of Share Market को Clear करना पड़ेगा इसमें नीचे दी गई चीजें सीखनी पड़ती हैं।

  • शेयर बाजार क्या है और कैसे काम करता है।
  • सेंसेक्स और निफ्टी क्या होते हैं।
  • स्टॉक एक्सचेंज क्या होते हैं।
  • IPO क्या होता है और इसका क्या महत्व है।
  • Demat Account क्या है और इसे कैसे खोलें।

Stock Market में निवेश करने से पहले आप जितना ज्यादा से ज्यादा Research करेंगे आपके लिए उतना ही ज्यादा अच्छा रहेगा।

Stock Market से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण शब्द

दोस्तों शेयर बाजार में बहुत सी महत्वपूर्ण शब्दावली प्रयोग की जाती है जिसमें से कुछ मुख्य शब्दों के बारे में हमने नीचे बताया है।

  • Share
  • Broker
  • Mutual Funds
  • IPO
  • Demat Account
  • Trading Account
  • Bull
  • Bear
  • Sensex
  • Nifty
  • Call
  • Put

भारत के प्रमुख शेयर बाजार

  • बांबे स्टॉक एक्सचेंज 
  • नेशनल स्टॉक एक्सचेंज
  • कलकत्ता स्टॉक एक्सचेंज
  • इंडिया इंटरनेशनल एक्सचेंज
  • इंडियन कमोडिटी एक्सचेंज 
  • मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया

शेयर मार्केट गाइड

  • किसी भी शेयर में निवेश करने से पहले आपको सीखना चाहिए।
  • पहले कंपनी के बारे में खुद से रिसर्च करें।
  • किसी भी शेयर में निवेश करने से पहले अच्छी तरह से प्लानिंग करें।
  • शुरुआत में आप कम पैसों का निवेश कर सकते हैं।
  • अपने सभी पैसे एक ही कंपनी में निवेश ना करें अपने Investment को Diversify जरूर करें।
  • क्योंकि इसमें Risk बहुत रहता है तो आप उतना ही निवेश करें जितना नुकसान उठा सकते हैं।
  • ज्यादा लालच करने से बचें अन्यथा आप को अनावश्यक रूप से नुकसान हो सकता है।
  • किसी भी तरह की अनावश्यक अफवाह पर ध्यान ना दें।

सेंसेक्स(Sensex) क्या होता है

Sensex के बारे में बात करें तो यह Bombay Stock Exchange का Index है इसका निर्धारण Bombay Stock Exchange में सूचीबद्ध 30 कंपनियों की कीमत के आधार पर किया जाता है।

अगर आप देखते हैं कि सेंसेक्स ऊपर की तरफ जा रहा है तो इसका मतलब है कि BSE में Listed सभी कंपनियों ने अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन अगर आप देखते हैं कि सेंसेक्स नीचे की तरफ जा रहा है तो इसका साधारण सा अर्थ है कि BSE में Listed सभी कंपनियों का प्रदर्शन खराब है।

इसे भी पढ़े :

निफ्टी(Nifty) क्या है

Sensex की तरह Nifty भी एक Index है जो National Stock Exchange का सूचकांक है।

दोस्तो निफ्टी का निर्धारण नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध 50 कंपनियों की कीमत के आधार पर किया जाता है।

अगर NSE में सूचीबद्ध कंपनियां अच्छा प्रदर्शन करती हैं तो निफ्टी ऊपर की तरफ जाता है लेकिन अगर इन कंपनियों के प्रदर्शन में गिरावट आती है तो Nifty भी कम हो जाता है।

Share Market के फायदे

  • शेयर बाजार में निवेश करने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि इसके द्वारा मिलने वाला मुनाफा समान समय की तुलना में बैंक, एफडी, और अन्य निवेश की तुलना में अधिक होता है।
  • अगर आप किसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं तो आप कंपनी के कुछ हिस्से के मालिक बन जाते हैं फिर आपको कंपनी के सभी लाभ और बोनस भी प्राप्त होते हैं।
  • शेयर बाजार में एक फायदा यह भी है कि यहां पर कोई Lock In Period नहीं होता है मतलब आप कभी भी शेयरों की खरीद बिक्री कर सकते हैं।
  • Stock Market को SEBI के द्वारा नियंत्रित किया जाता है जो निवेशकों के हितों की रक्षा के लिए काम करती है तथा किसी भी धोखाधड़ी से निवेशकों को बचाती है।
  • एक अच्छा शेयर आपको रातों रात करोड़पति बना सकता है।

Share Market के नुकसान

  • Stock Market में निवेश को बहुत Risky माना जाता है क्योंकि बाजार में उतार-चढ़ाव की वजह से शेयरों की कीमत में उतार-चढ़ाव होता है।
  • अगर कोई कंपनी बंद होती है तो उसके शेयरधारकों को सबसे अंत में पैसा दिया जाता है उससे पहले बांडधारकों को और लेनदारो को भुगतान किया जाता है।
  • बिना निवेशक और गलत तरीके से निवेश करने से आपको बहुत अधिक नुकसान उठाना पड़ सकता है।
  • गलत शेयर में निवेश करने से आप रातों-रात सड़क पर आ सकते हैं।

निष्कर्ष

इस लेख में हमने आपको Share Market Kya Hai के बारे में पूरी जानकारी दिए साथ ही शेयर बाजार से जुड़ी अन्य जानकारी भी प्रदान की है।हम आशा करते हैं कि आप को यह जानकारी अच्छी लगी होगी और आप इसे ऐसे लोगों तक जरूर शेयर करेंगे जो शेयर बाजार के बारे में जानना चाहते हैं।

FAQ : Share Market Kya Hai In Hindi

Q1. शेयर कितने प्रकार के होते है?

Ans : मुख्य रूप से शेयर दो प्रकार के होते है-इक्विटी शेयर और वरीयता शेयर

Q2. भारत का सबसे बड़ा शेयर कौन है?

Ans : BSE ( Bombay Stock Exchange)

Q3. शेयर कब खरीदना चाहिए?

Ans : शेयर खरीदने का सबसे अच्छा सही समय मंदी या फिर गिरावट के वक्त होता है क्योंकि जब पूरा शेयर बाजार डरा हुआ होता है तो निवेशक अपने खरीदे हुए शेयर बेचने लगते हैं उसी समय हमे हमे शेयर खरीदना चाहिए |

Q4. शेयर मार्केट और स्टॉक मार्केट में क्या अंतर है?

Ans : शेयर मार्केट और स्टॉक मार्केट में कोई अन्तर नहीं है बस फर्क इतना है की इंग्लिश में हम स्टॉक मार्केट बोलते है और हिंदी में शेयर मार्केट |

Leave a Comment